दैनिक प्रार्थना

हमारे मन में सबके प्रति प्रेम, सहानुभूति, मित्रता और शांतिपूर्वक साथ रहने का भाव हो.

Monday, January 17, 2011

धर्म के नाम पर विभाजन की राजनीति

धर्म के आधार पर लोगों को विभाजित करने की कुत्सित राजनीति हमारे देश को घोर नुक्सान पहुंचा रही है. नागरिकों की कितनी ही ऊर्जा आपस के झगड़ों में नष्ट हो जाती है. अगर इस ऊर्जा का संचय किया जाय और उसे राष्ट्र निर्माण में लगाया जाय तब हमारे देश को विश्व का शिरमौर बनने में देर नहीं लगेगी.

राजनीतिक दल एक दूसरे से होड़ करने में लगे रहते हैं कि कैसे किस धर्म विशेष के अनुयायिओं को अपने वोट बेंक में बदल लिया जाय. इसके लिए यह दल उस धर्म के अनुयायिओं के मन में दूसरे धर्म के प्रति डर और नफरत पैदा करते हैं. उन्हें आपस में मिलने नहीं देते. इस के लिए उन धर्मों के तथाकथित स्वयम सिद्ध नेता इन दलों की मदद करते हैं. राजनितिक दल इन धार्मिक नेताओं की हर गलत-सही बात का समर्थन करते हैं.

पिछले दिनों दिल्ली में हाई कोर्ट के आदेश पर डीडीए ने अवैध रूप से सरकारी जमीन पर बनी एक मस्जिद गिरा दी. इस पर
उस छेत्र के कुछ मुसलमान सड़क पर आ कर आन्दोलन करने लगे. मुस्लिम धार्मिक नेता, दिल्ली के शाही ईमाम ने उन्हें समझाया नहीं बल्कि और ज्यादा भड़काया. ईमाम के भड़काने से लोग हिंसक हो गए और सड़क पर तोड़-फोड़ करने लगे, कई प्राईवेट कारें और बसें तोड़ डालीं. ईमाम को एक जिम्मेदार नेता की भूमिका अदा करनी चाहिए थी, लोगों को समझाना चाहिए था कि सरकारी जमीन पर अवैध रूप से मस्जिद बनाना कानून का उल्लंघन है. वह जमीन एक सामुदायिक केंद्र के लिए सुरक्षित की गई थी. अगर वहां पर सामुदायिक केंद्र बनता तब वहां के सभी निवासियों का फायदा होता. पर ईमाम ने लोगो को और कानून तोड़ने के लिए भड़काया.

राजनीतिक दलों ने भी इस परिस्थिति का गलत फायदा उठाया. पहले तो दिल्ली की मुख्य मंत्री दौड़ी हुई ईमाम के पास गईं, मस्जिद को दुबारा बनबाने का वचन दिया, सरकारी जमीन पर नमाज पढने के लिए इजाजत दी. केंद्र सरकार के गृह मंत्री और नगर विकास मंत्री ने अपने दूत यही भरोसा दिलाने के लिए ईमाम के पास भेजे. दूसरे दिन ईमाम ने लोगों को सरकारी जमीन पर नमाज पढ़वाई. पुलिस मूक दर्शक बनी रही. नमाज पढने के दौरान कुछ लोगों ने दीवार बनानी शुरू करदी. शाम होते-होते सरकारी जमीन को फिर से दीवार और टीन की चादरों से घेर और ढक दिया गया. कितनी शर्म की बात है, मुस्लिम वोटों के लिए सरकार ने खुद लोगों को कानून तोड़ने की इजाजत दी. दूसरे राजनीतिक दल कहाँ पीछे रहने वाले थे. मुलायम सिंह तुरंत अपने साथियों के साथ ईमाम के दरबार में हाजिरी लगाने पहुँच गए. उसके बाद अमर सिंह और जयप्रदा भी द्रब्बर में हाजिर हुए. इन्होनें भी ईमाम को आश्वासन दिया की उनके अवैध संघर्ष में वह उनके साथ हैं.

यह घटिया नेता देश को क्या सही दिशा देंगे जब खुद ही दिशाहीन हैं. कुर्सी के लिए नागरिकों के बीच नफरत का जहर उगल रहे हैं. ईश्वर इन्हें सद्वुद्धि दो.

9 comments:

GYanesh Kumar said...

नमस्कार सर
मै ज्ञानेश कुमार गुप्ता आपको सादर प्रणाम करता हूँ
सर जी वास्तविक समस्या देश की आजादी के समय से ही पैदा हुयी है जवकि देश के 99.99 प्रतिशत लोगों द्वारा प्राप्त आजादी का 100 प्रतिशत लाभ 0.01 प्रतिशत लोगों ने पाकिस्तान बनाकर उठाया नहेरु के षडयन्त्र से जिसमें लगता है कि गाँधी जी भी खुद फँस गये थे यह नहेरु ही था जिसने देश की आजादी के बाद भारत को दो टुकड़ो में बाँट कर मुस्लमान को तो पाकिस्तान दिया ही हिन्दु से उसका जहाँ भारत को धर्म निरपेक्ष बना कर छीन लिया जिसमें आज तक हिन्दु् अपने राज्य के लिए आज तक खून के आँशू बहा रहा है हिन्दु अपनी बात यहाँ नही कह पा रहा उसे कई बार अपने मंदिरों मे प्रार्थना व आरती के लिए भी परमीशन लेनी पड़ती है उधर मुसलमान को मस्जिदों के सामने सड़क घेरकर अजान लगाने की खुली छूट है जिसमें चाहैं आम जनता कितना भी परेशान क्यों न हो प्रसासन भी सरकारी नियमों के आगे उनकी दुष्टता का साथ दैने के लिए मजबूर हो जाता है आपकी रचना से कम से कम कुछ जाग्रति तो आवे वड़ी ही सटीक रचना

Anonymous said...

hello there and thank you for your info – I have certainly picked up
anything new from right here. I did however expertise some
technical issues using this site, since I experienced
to reload the web site lots of times previous to I could
get it to load correctly. I had been wondering if your
hosting is OK? Not that I am complaining, but slow loading instances times will often affect your placement in
google and can damage your quality score if advertising and marketing with Adwords.
Anyway I am adding this RSS to my email and could
look out for a lot more of your respective intriguing content.
Ensure that you update this again soon.

Here is my webpage; bad credit car loans
Here is my blog ... how to buy a car,buying a car,buy a car,how to buy a car bad credit,buying a car bad credit,buy a car bad credit,how to buy a car with bad credit,buying a car with bad credit,buy a car with bad credit,bad credit car loans,car loans bad credit,auto loans bad credit,bad credit auto loans,buying a car bad credit loans,bad credit loans cars,buying a car and bad credit,how to buy a car on bad credit,buying a car on bad credit,loans for cars with bad credit,auto loans for bad credit,buying a car with bad credit,how to buy a car with bad credit

Anonymous said...

Hmm it appears like your site ate my first comment (it was super long) so I guess
I'll just sum it up what I submitted and say, I'm thoroughly enjoying your blog.
I as well am an aspiring blog writer but I'm still new to everything. Do you have any recommendations for newbie blog writers? I'd certainly appreciate it.



Feel free to surf to my homepage ... how to buy a car with bad credit
my site :: buying a car with bad credit,buy a car with bad credit,how to buy a car with bad credit,buying a car,buy a car,how to buy a car

Anonymous said...

Greetings I am so excited I found your website, I really found you by accident, while I was browsing on Google for something else, Anyways I am here now and would just like to say thanks a
lot for a fantastic post and a all round enjoyable blog (I
also love the theme/design), I don't have time to read it all at the minute but I have saved it and also added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read much more, Please do keep up the awesome job.

Also visit my web site ... how to buy a car
Feel free to visit my blog post ... buying a car with bad credit,buy a car with bad credit,how to buy a car with bad credit,buying a car,buy a car,how to buy a car

Anonymous said...

Greetings I am so excited I found your website, I really
found you by accident, while I was browsing on
Google for something else, Anyways I am here now and would just like
to say thanks a lot for a fantastic post and a all round enjoyable blog
(I also love the theme/design), I don't have time to read it all at the minute but I have saved it and also added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read much more, Please do keep up the awesome job.

My web site - how to buy a car
my web site - buying a car with bad credit,buy a car with bad credit,how to buy a car with bad credit,buying a car,buy a car,how to buy a car

Anonymous said...

Hi there colleagues, nice paragraph and fastidious urging commented
at this place, I am actually enjoying by these.


My web page buy a car with bad credit

Anonymous said...

bookmarked!!, I really like your website!

Here is my website :: getting pregnant

Anonymous said...

Helpful info. Lucky me I found your website by accident, and I am surprised why this accident didn't happened in advance! I bookmarked it.

my weblog :: ukpharmacyreview.co.uk

Anonymous said...

Its like you learn my mind! You seem to grasp
so much approximately this, such as you wrote the book in it
or something. I believe that you simply can do with a few
p.c. to pressure the message home a little bit, but other
than that, that is excellent blog. A great read.
I'll certainly be back.

my page - how to get pregnant fast